HomeRam ka full form kya haiRam ka full form kya hai | Ram And Rom की पूरी...

Ram ka full form kya hai | Ram And Rom की पूरी जानकारी

Ram ka full form kya hai | Ram And Rom की पूरी जानकारी

 

 रैम और रोम क्या है पूरी जानकारी

दोस्तों आज टेक्नोलॉजी का जमाना है हर किसी के पास स्मार्ट फोन है पर अभी भी कुछ ऐसे लोग हैं जिन्हें पता ही नहीं की  Ram kya hai, Rom Kya Hai.

(What is RAM and  ROM and  how is it works ) RAM क्या होता है और ROM क्या होता है ये किस तरह काम करता है क्या हमारे मोबाईल के लिए  जरूरी होता है रैम ( RAM )  या रोम ( ROM )  और क्या वजह है जिससे हमारा मोबाइल हैंग करता है

 

 

RAM (रैम)  क्या होता है और यह किस तरह काम करता है रैम कितने प्रकार का होता है क्या मोबाइल और कंप्यूटर का  रैम एक जैसा होता है इन सब सवाल का जवाब आज आपको यहां मिलने वाला है दोस्तों अगर आपको जानना है रैम और रोम क्या होता है तो दोस्तों हमने इसके ऊपर आपके लिए बढ़ी मेहनत से इस आर्टिकल को लिखा है please पूरा जरूर पढ़े दोस्तों

 

1. Ram ka full form kya hai | रैम क्या है

रैम (RAM);का पूरा नाम Random Access Memory होता है यह तभी काम करता है जब हमारा मोबाइल या कंप्यूटर ऑन होता है या काम कर रहा होता है मोबाइल या कंप्यूटर के बंद हो जाने पर रैम का सारा डेटा मिट जाता है

अगर दूसरे शब्दों में कहा जाए तो जब भी आप कोई एप्लीकेशन  डाउनलोड करते हो तो वह आपकी इंटरनल मेमोरी में सेव हो जाता है लेकिन जब आप उस एप्लीकेशन को यूज करते हो तो वह रैम में चल (Run) रहा होता है

Ram का साइज Rom की तुलना मे बहुत कम होता है  लेकिन रैम की स्पीड Rom की स्पीड से बहुत ज्यादा होता है
इससे यह पता चलता है  दोस्तों की जितना ज्यादा आपके फोन में रैम होगा उतना तेज आपका फोन चलेगा।
इसे भी पढ़े:- Super Computer Kya Hai

 

 
2.  रैम के फायदे – advantage of RAM in hindi
दोस्तों हम जानेगे की रैम (RAM) से हमे फायदा क्या होता है।
 

(i) इससे कंप्यूटर सिस्टम की रफ्तार (speed) बढती है जितना ज्यादा ram होगा सिस्टम उतनी ही तेज चलेगा

(ii)  CPU, रैम से data को तेजी से read कर सकता है. (हार्ड डिस्क, CD, DVD , FLOPPY DISK और USB की तुलना में)

(iii)  इसमें power का बहुत कम use होता है जिससे battery life बढती है

(iv) इसमें कोई भी moving parts नहीं होते है जिस वजह से इसके कोई भी parts हिलते नहीं है.

(v) अगर आपके device में RAM ज्यादा है तो अपका डेविस हैंग नहीं करेगा इससे अपका टाइम भी बच जाएगा

3. रैम के नुक्सान (disadvantage of RAM  )

(i) computer में RAM कम होता है क्योंकि इसकी हर bit की cost बहुत अधिक होती है.

(ii) यह volatile होती है मतलब इसमें डेटा हमेशा के लिए स्टोर (store) नहीं हो सकता है.

(iii) यह ROM से महंगा होता है और इसके हर BIT की कीमत ज्यादा होती है

(iv) यह CPU CACH से धीमा (SLOW) चलता हाई

 

2. रोम क्या होता है- What is ROM

Rom का पूरा नाम Read Only Memory होता है इसको कंप्यूटर की प्राइमरी मेमोरी भी कहा जाता  है यह डेटा को परमानेंट सेव (save) रखता है कंप्यूटर द्वारा जो भी इंफॉर्मेशन इस्तेमाल की जाती है वह इस मेमोरी से ही ली जाती है यह मेमोरी रैम से अधिक होता है इस मेमोरी में हमारे द्वारा जो भी Application,Music, Data, File, Game, photos, video  जो भी कुछ डाउनलोड किया जाता हैं सब का सब इसी मेमोरी में सेव होता हैं

अगर दूसरे शब्दों में बताया जाए तो हम जो भी एप्लीकेशंस,म्यूजिक, डाटा,गेम,पीडीएफ फाइल  डाउनलोड करते हैं तो वह परमानेंटली मोबाइल के प्राइमरी मेमोरी Rom में सेव हो जाता है और जब हमारे मोबाइल या कंप्यूटर को कोई इंफॉर्मेशन चाहिए होती है तो वह Rom से Ram में आ जाता है और वह इंफॉर्मेशन जैसे गेम, म्यूजिक,और सभी एप्स रैम मैं काम करते है

सब कुल मिला कर रैम और ROM दोनों ही किसी मोबाइल या कंप्यूटर का एक अहम हिस्सा होता है तो अगली बार जब भी आप कभी मोबाइल या कंप्यूटर खरीदने जाते हो तो इस बात का ध्यान जरूर रखना कि आपके फोन/कंप्यूटर में आपको कितनी RAM और ROM की जरूरत हैं उसी हिसाब से आप मोबाइल/कंप्यूटर खरीदे।

ROM के फायदे ( Advantages of ROM )

 रोम के फायदे इस तरह होते  हैं

(i) प्रकृति में Non-volatile है

‌(ii) गलती से नहीं बदला जा सकता

‌(iii) Ram की तुलना में सस्ता है

‌(iv) परीक्षण करने में आसान

‌(v) RAM से अधिक reliable

RAM और ROM में क्या अंतर है – what is difference between RAM and ROM

 

– RAM का पूरा नाम Random Access Memory  है जबकि ROM का पूरा नाम Read Only Memory है

– ROM में हमारे मोबाइल का सारा डाटा सेव होता है जब भी हम कोई वीडियो,फोटो,डॉक्यूमेंट,ऑडियो,म्यूजिक और जो भी कोRAM औरई एप्पलीकेशन डाउनलोड करते हैं और इंस्टॉल करते हैं वह ROM में ही होता है ROM को  इंटरनल मेमोरी (Internal Memory)  भी कहा जता हैं जबकि रैम में वही डेटा काम करता है जो मोबाइल चलाने के समय चलता है और मोबाइल की पावर ऑफ़ होते ही सारा डाटा मिट जाता है।

– रैम की स्पीड़ बहुत ज्यादा होती है ROM से

– रैम की कॉस्ट (price) भी कही ज्यादा होती  है ROM के मुकाबले

– ROM का काम डेटा को सेव save रखने का होता है और रैम का काम तेजी से इन्फॉर्मेशन को CPU तक पहुचना होता है

 

3. मोबाइल फ़ोन हैंग क्यो होता है – why smartphone hang

जब आपका फोन बंद होता है तो आपका सारा ROM यानी इंटरनल मेमोरी में सेव रहता है जब आप अपने फोन को ऑन करते हैं तो फोन कि रैम में पावर आता है वह काम करने लगता है और सारा डाटा रैम में आ जाता है अगर आपके मोबाइल फोन  की RAM कम हो  तो 4 से 5 ऐप चलाने से ही आपके रैम का स्पेस (space) पूरी तरह से भर जाता है

जब आप कोई और एप्पलीकेशन चलाते हैं तो रैम को उसका स्पेस बनाने के लिए किसी एक ऐप को वापस ROM यानी इंटरनल मेमोरी में भेजना पड़ता है जब रैम यह प्रोसेस(PROCESS) करता है तो इस प्रोसेस के दौरान आपका फोन हैंग हो जाता है इसलिए यह बोला जाता है कि अगर आपके मोबाइल फोन में ज्यादा RAM होगा तो अपका फोन हैंग (hang) नहीं होगा।

आज हमने क्या सीखा:-

आज हमने जाना

Ram Ka Full Form Kya Hai

Rom Kya Hota Hai

Ram Kya Hota Hai

Mobile Hang Kyun Karta Hai

Conclusion:-

उम्मीद करता हूं दोस्तों आप समझ गए  होंगे कि रैम और रोम  क्या होता है (What is RAM & ROM AND HOW ITS WORKS)और यह किस प्रकार काम करता है हम उम्मीद करते है की आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा और इसे आपको जरूर मदद मिली होगी तो अगर आपको हमारा आर्टिकल पसंद आता है तो उसे सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और अगर आपका कोई सवाल है तो हमे कमेंट करें |

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments